Category - यात्रा

आदि शक्ति मंदिर

51 शक्ति पीठो मे से एक चिंतापूर्णी मंदिर – जहा माता सती के चरण गिरे थे

नौ देवियों में से पांच देवियो के मंदिर हिमाचल प्रदेश में ही स्थित हैं। इनमें माता चिंतापूर्णी के बारे में कहा जाता है कि वे मन की हर तरह की चिंता को दूर कर सुख प्रदान करती हैं। वे पहाड़ों की नौ देवियों और देश के 51 शक्तिपीठों में से एक हैं।......

विष्णु मंदिर

चौक जाएंगे आप जानकर पद्मनाभ स्वामी मंदिर का रहस्य

तिरुवनंतपुरम शहर के बीच में स्थित है श्री पद्मनाभ स्वामी मंदिर। इस मंदिर को बहुत ही खूबसूरती से द्रविड़ शैली में बनाया गया है, इस शहर को इस मंदिर के नाम से जाना जाता है।......

कार्तिकेय

नागों के स्वामी भगवान सुब्रमण्य यहाँ देते है काल सर्प दोष से मुक्ति

भारत के प्राचीन तीर्थ स्थानों में से एक कुक्के सुब्रमण्या मंदिर, कर्नाटक राज्य के दक्षिणा कन्नड़ जिले मैंगलोर के पास के सुल्लिया तालुक के सुब्रमण्या के एक छोटे से गांव......

कृष्णा मंदिर

भगवान् कृष्ण का भव्य और आलोकिक श्री प्रियाकान्त जू मंदिर, वृन्दावन

श्रीप्रियाकान्त जू मन्दिर महाराज श्री के उस संकल्प की परिणिति है जिसमें लाखों लोगों ने अपना सहयोग प्रदान किया है। कोई भी महान कार्य बिना सहयोग के पूरा नहीं हो पाता। सहयोग......

अन्य मंदिर

300 साल पुराना है मत्स्य माता मंदिर : यहां होती है व्हेल मछली की हड्डियों की पूजा

यह मंदिर गुजरात में वलसाड तहसील के मगोद डुंगरी गांव में स्थापित है। यदि इस खबर की इस हेडलाइन को पढ़कर आप यह अनुमान लगा रहे हैं कि यह खबर दुनिया के किसी और देश की है, तो आप......

यात्रा

जगन्नाथ रथ यात्रा

     hindu temple | hindu temples in india | char dham yatra | kailash mansarovar yatraभगवान श्री जगन्नाथ जी की रथयात्रा आषाढ़ शुक्ल द्वितीया को जगन्नाथपुरी में आरंभ होती है। यह रथयात्रा पुरी का प्रधान पर्व है।......

अन्य मंदिर हिन्दू मंदिर

साल में 5 घंटे खुलने वाला अद्भुत मंदिर

                    - निराई माता - Nirai Mata Temple Chhattisgarh : देवी-देवता के मंदिर भारत के कोने-कोने पर स्थित है। हर मंदिर का अपना कोई न कोई रहस्य होता है। जिसके कारण वह विश्व प्रसिद्ध होते है। कोई......

चार धाम यात्रा

रामेश्वरम धाम

रामेश्वरम हिंदुओं का एक पवित्र तीर्थ है। यह तमिलनाडु के रामनाथपुरम जिले में स्थित है। यह तीर्थ हिन्दुओं के चार धामों में से एक है। इसके अलावा यहां स्थापित शिवलिंग द्वादश......

चार धाम यात्रा

द्वारिकाधीश धाम

गुजरात का द्वारका शहर वह स्थान है जहाँ 5000 वर्ष पूर्व भगवान कृष्ण ने मथुरा छोड़ने के बाद द्वारका नगरी बसाई थी। जिस स्थान पर उनका निजी महल 'हरि गृह' था वहाँ आज प्रसिद्ध......

Copy Protected by Nxpnetsolutio.com's WP-Copyprotect.