साईं बाबा भजन

तेरा हाथ जिसने पकड़ा

sai baba

तेरा हाथ जिसने पकड़ा वो रहा ना बे सहारा दरिया में डूब कर भी मिल गया किनारा

तेरा हाथ जिसने पकड़ा वो रहा ना बे सहारा

दरिया में डूब कर भी उसे मिल गया किनारा

तेरा हाथ जिसने पकड़ा वो रहा ना बे सहारा

दरिया में डूब कर भी उसे मिल गया किनारा

आनंद पा लिया है साईं के डर पे आकर

आनंद पा लिया है साईं के डर पे आकर

अब क्या करेंगे फिर से दुनिया के पास जा कर

अब क्या करेंगे फिर से दुनिया के पास जा कर

समझाया जिंदगी ने बड़े काम का इशारा

समझाया जिंदगी ने बड़े काम का इशारा





तेरा हाथ जिसने पकड़ा वो रहा ना बे सहारा

दरिया में डूब कर भी उसे मिल गया किनारा

साईं से जो मिला है कही और क्या मिलेगा

साईं से जो मिला है कही और क्या मिलेगा

ये ऐसा सिलसिला है जो भगवन से जा मिलेगा

ले जायेगा अब कही भी साईं की प्रेम धरा

तेरा हाथ जिसने पकड़ा वो रहा ना बे सहारा

दरिया में डूब कर भी उसे मिल गया किनारा

आराम हो या मुस्किल आशा हो या निराशा

आराम हो या मुस्किल आशा हो या निराशा






साईं दिखा रहा है अपना ही एक तमाशा

हारा जो वो भी जीता जीता जो वो भी हारा

दरिया में डूब कर भी उसे मिल गया किनारा

तेरा हाथ जिसने पकड़ा

कोई मेहरबान होके उसे ज्ञान दान देगा

जो उसी का नाम लेगा जो उसी पे जान देगा

सुनता है साईं उसकी जिसने उसे पुकारा

सुनता है साईं उसकी जिसने उसे पुकारा

दरिया में डूब कर भी उसे मिल गया किनारा

तेरा हाथ जिसने पकड़ा

क्या आपको हमारी पोस्ट पसंद आयी ?

Copy Protected by Nxpnetsolutio.com's WP-Copyprotect.