लाल किताब

सियार सिंगी : सिद्ध करने का मंत्र और विधि जिससे होगा व्यापार और जॉब में तुरंत प्रमोशन

सियार सिंगी बहुत ही चमत्कारी वस्तु होती है इसे घर में रखने से सकारात्मक उर्जा का अनुभव होता है, सियार सिंगी बालो के एक गुच्छे कि तरह होती है, असल में सियार के सींग नहीं होते परन्तु कुछ सियारों के नाक के ऊपर बालो का एक गुच्छा बन जाता है – धीरे धीरे वह कड़ा और बड़ा हो जाता है और सींग जैसा बन जाता है इसे सियार सिगी कहते है और यह हजारों में से किसी एक के नाक पर होता है, इसमें वशीकरण की अद्भुत शक्ति होती है | यदि इसे सिद्ध कर लिया जाए तो यह शक्ति हजारों गुना बढ़ जाती है | इसके द्वारा आप किसी से भी अपना मनोवांछित काम करवा सकते है | इसे सिद्ध करने की अनेकों विधियाँ है पर यदि इसे होली या दीपावली के दिन निम्न विधि से सिद्ध किया जाए तो इसका चमत्कार बड़ी जल्दी नज़र आता है | आपके सबके लिए एक आसान और प्रमाणिक विधि जो बहुत प्रयासों के बाद मिल सकी है उसका उल्लेख हम यहाँ कर रहे है, और उम्मीद करते है कि यह आप लोगों के लिए उपयोगी होगी, यह विधि दीपावली से पहले धन तेरस बाले दिन शुरू की जाती है मतलब दीपावली तक रोज होना चाहिये !

सियार सिंगी को सिद्ध करने का अचूक मन्त्र | Siyar Singhi Siddha Mantra

ॐ चामुण्डाये नमः

सियार सिंगी को सिद्ध करने की विधि | Siyar Singhi Siddha Karne ki Vidhi

दीपावली से पहले धन तेरस को एक सियार सिंगी का एक जोड़ा लें !उसे लाल कपडे पर स्थापित करे ! लाल आसन बिछा कर लाल वस्त्र धारण कर बैठ जाएँ ! सरसों के तेल का दीपक जलाएँ ! सियार सिंगी पर गंगा जल छिड़कें ! चावल चढ़ाएँ और पांच लौंग साबुत और पांच चोटी इलायची चढ़ाये | उपरोक्त मंत्र 2100 बार जप करे ! जप समाप्ति के बाद अग्नि में 21 आहुति गुग्गल की दे ! ऐसा रोज दीपावली तक करे | दीपावली वाली रात पूजा के बाद इस नीचे लिखे मन्त्र का सियार सिंगी के सामने 1100 बार जाप करे |

सियार सिंगी सिद्ध मंत्र | Siyar Singhi Siddha Mantra in Hindi

ॐ नमो भगवते रुद्राणी चमुन्डानी घोराणी सर्व पुरुष क्षोभणी सर्व शत्रु विद्रावणी। ॐ आं क्रौम ह्रीं जों ह्रीं मोहय मोहय क्षोभय क्षोभय …………… मम वशी कुरुं वशी कुरुं क्रीं श्रीं ह्रीं क्रीं स्वाहा।

इस मन्त्र को जपने के बाद सियार सिंगी को किसी चांदी या ताम्बे की डिब्बी में मीठा सिन्दूर डाल कर उसमें पांच लौंग पांच इलायची और एक कपूर का छोटा सा टुकड़ा डाल कर रख ले

सियार सिंगी प्रयोग विधि | Siyar Singhi Prayog Vidhi

जब किसी पर प्रयोग करना हो तो इस डिब्बी को खोल कर सियार सिंगी के सामने दोनों मन्त्रों का एक एक माला जाप करे और उस व्यक्ति का नाम बोल कर चामुंडा मां से उसे अपने अनुकूल करने की प्रार्थना करे और डब्बी को अपनी जेब में रखकर चले जाएँ ! आपका कार्य सिद्ध हो जायेगा !

सियारसिंगी में असली या नकली की पहचान कैसे करें 

कुछ जानकारी है जिसके आधार पर आप लोग असली और नकली की पहचान कर सकते हैं। परन्तु उसके लिए कुछ समय की जरुरत होती है –

पहचान : सियारसिंगी के बाल बढ़ते हैं। सियारसिंगी के छोटे-छोटे सीग होते है जों बढ़ते हैं। सियारसिंगी का आकार भी बढ़ता है और उन का जों हिस्सा जहा बाल नहीं होते सिंदूर के साथ गीला रहता है 

सियार सिंगी से वशीकरण | Siyar Singhi Vashikaran

सियार सिंगी का प्रयोग, सियार सिंगी की पहचान/फायदे, सियार सिंगी मंत्र- सियार सिंगी के बारे मे माना गया है इसको अपने घर मे रखने से जातक के घर मे हमेशा सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है। साथ ही ये तंत्र-मंत्र साधना व विधि का एक बड़ा चमत्कारी रूप है। सियार सिंगी नाम को सुनकर व्यक्ति कल्पना करता है की ये सियार के सिर पर उगा वो सिंग है, जिसका प्रयोग साधना के लिए किया जाता है, पर दरअसल उनके सिंग नहीं होते, बस नाक के ऊपर बालों का गुच्छा उग आता है, जो वक़्त के साथ बड़ा होने के साथ-साथ कड़ा हो जाता है और यही सियार सिंगी कहलता है। जिसका इस्तेमाल वशीकरण के लिए होता है

सियार सिंगी वशीकरण मंत्र और सिद्ध करने की विधि | Siyar Singhi Vashikaran Vidhi in Hindi

 “ ह्रीं गं जूं सः (जिसको वश में करना हो उसका नाम लेमें वश्य वश्य कुरु स्वाहा

इस साधना को करने की विधि कुछ इस प्रकार है- शनिवार के दिन इसको प्रारम्भ करके 7 दिनों तक करे और हर दिन 21 माला जाप करना होगा। मंत्र जप के लिए मुंगे की माला का इस्तेमाल करके सूर्यास्त के बाद साधना शुरू करे। ये साधना करते हुए पश्चिम दिशा की तरफ मुह रखे और आपका वस्त्र लाल रंग का होना चाहिए। आसान भी उसी प्रकार लाल रंग का रखे। मंत्र सिद्ध होने पर आप जिस व्यक्ति को वश मे करना चाहते है, उसके सामने जाकर बताए मंत्र को 5 बार जप करे। ध्यान रहे की आप सिंगी को अपनी जेब में रखे या लॉकेट में धारण करके पहन सकते है

सियार सिंगी से व्यापार और नौकरी में लाभ या प्रमोशन | Siyar Singhi Se Vyapar Me Vradhi or Labh

सियार सिंगी का प्रयोग लोग कई बार उस हालत मे भी करते है जब उनकी प्रगति नहीं हो रही होती या किसी कारण से व्यापार सही नहीं चल रहा होता। ऐसे मे एक असरदार मंत्र है-

“ॐ नमो भगवती पद्मा श्रीम ॐ हरीम, पूर्व दक्षिण उत्तर पश्चिम धन द्रव्य आवे , सर्व जन्य वश्य कुरु कुरु नमः”

इसे आप बुधवार के दिन शुरू करे और सियार सिंगी को किसी एक स्टील की प्लेट में स्थापित करले। ध्यान रखे 21 दिनों तक इसी सियार सिंगी के सामने आपको रोज 108 बार बताए मंत्र का जप करना होगा। मंत्र जप से पहले सियार सिंगी स्थापित करके उसके ऊपर कुमकुम या केसर से तिलक लगाना होगा और चावल व फूल भी आपको अर्पित करने होंगे। 21 दिन तक जप करके अब आप इसे एक डिब्बी में ध्यान से रख दे। फिर इसे अपनी दूकान मे किसी सुरक्षित जगह रखे और फिर 21 बार उसी मंत्र का जप करे। ऐसा करने के बाद साधक स्वय अपने व्यापार मे होने वाली तरक्की को देख सकता है।

नयी पोस्ट आपके लिए