आरती संग्रह

श्री अथ शिवजी की आरती

Ath Shiva

श्री अथ शिवजी आरती (Shri Ath Shivji Ki Aarti in hindi Mp3)

शीश गंग अर्द्धागड़ पार्वती, सदा विराजत कैलाशी |

नंदी भृंगी नृत्य करत हैं, धरत ध्यान सुर सुख रासी ||

शीतल मंद सुगंध पवन बहे, वहाँ बैठे है शिव अविनासी |

करत गान गंधर्व सप्त स्वर, राग रागिनी सब गासी ||

यक्षरक्ष भैरव जहं डोलत, बोलत है बनके वासी |

कोयल शब्द सुनावत सुन्दर, भंवर करत हैं गुंजासी ||

कल्पद्रुम अरु पारिजात, तरु लाग रहे हैं लक्षासी |

कामधेनु कोटिक जहं डोलत, करत फिरत है भिक्षासी ||

सूर्य कांत समपर्वत शोभित, चंद्रकांत अवनी वासी |

छहों ऋतू नित फलत रहत हैं, पुष्प चढ़त हैं वर्षासी ||

देव मुनिजन की भीड़ पड़त है, निगम रहत जो नित गासी |

ब्रह्मा विष्णु जाको ध्यान धरत हैं, कछु शिव हमको फरमासी ||

ऋद्धि-सिद्धि के दाता शंकर, सदा अनंदित सुखरासी |

जिनको सुमरिन सेवा करते, टूट जाय यम की फांसी ||

त्रिशूलधर को ध्यान निरन्तर, मन लगाय कर जो गासी |

दूर करे विपता शिव तन की, जन्म-जन्म शिवपत पासी ||

कैलाशी काशी के वासी, अविनासी मेरी सुध लीज्यो |

सेवक जान सदा चरनन को, आपन जान दरश दीज्यो ||

तुम तो प्रभुजी सदा सयाने, अवगुण मेरो सब ढकियो |

सब अपराध क्षमाकर शंकर, किंकर की विनती सुनियो ||

Author’s Choices

हर कष्टों के निवारण के लिए जपे ये हनुमान जी के मंत्र, श्लोक तथा स्त्रोत

सूर्य नमस्कार : शरीर को सही आकार देने और मन को शांत व स्वस्थ रखने का उत्तम तरीका

कपालभाति प्राणायाम : जानिए करने की विधि, लाभ और सावधानियाँ

डायबिटीज क्या है, क्यों होती है, कैसे बचाव कर सकते है और डाइबटीज (मधुमेह) का प्रमाणित घरेलु उपचार

कोलेस्ट्रोल : कैसे करे नियंत्रण, घरेलु उपचार, बढ़ने के कारण और लक्षण

केदारनाथ ज्योतिर्लिंग : उत्तराखंड के चार धाम यात्रा में सबसे प्रमुख और सर्वोच्च ज्योतिर्लिंग

गृह प्रवेश और भूमि पूजन, शुभ मुहूर्त और विधिपूर्वक करने पर रहेंगे दोष मुक्त और लाभदायक

लघु रुद्राभिषेक पूजा : व्यक्ति के कई जन्मो के पाप कर्मो का नाश करने वाली शिव पूजा

तो ये है शिव के अद्भुत रूप का छुपा गूढ़ रहस्य, जानकर हक्के बक्के रह जायेंगे

शिव मंत्र पुष्पांजली तथा सम्पूर्ण पूजन विधि और मंत्र श्लोक

श्रीगणेश प्रश्नावली यंत्र के 64 अंकों से जानिए अपनी परेशानियों का हल