राजस्थानी भजन

सगाई श्याम री

brij-avtar

सगाई श्याम री (Sagae shyam re bhajan in hindi mp3)

एक दिन राधे नन्द घर खेलन को आई ,

चंचल रूप विशेष देख यशोदा के मन भाई ,

आ कुंवरी म्हारे श्याम ने कोई गोविन्द पुरे आश ,

सगाई श्याम री …………………||

जशोदा माँ प्रवीण ब्रिज की नार बुलाई

लिवि निकट बैठाई मर्मरी बात सुनाई |

घर जाओ वृश्मान के बहुत करो मनवार

आ कन्या म्हारे श्याम ने कोई मांगो गोद पसार

जोड़ी सोहनी श्रीराधे , श्रीराधे नंदकुमार सगाई ||1||

चली ब्रिज की नार बरसाने चली आई ,

जहा बैठी राधे की माँ बैठ कर बात सुनाई ,

तेरी कुंवरी चंचल रूप , मन मेरो नीको ,

कृपा कर देवोरी श्याम ने में रखु टीको

बहुत बहुत सुख होव्सी जो मोसे गाडी प्रीत

और कछु जानू नहीं , सखी आई जगत री रित ,

जोड़ी सोहनी , श्री राधे ……………….||2||

About the author

Aaditi Dave

Hello Every One, Jai Shree Krishna, as I Belong To Brahman Family I Got All The Properties of Hindu Spirituality From My Elders and Relatives & Decided To Spreading All The Stuff About Hindu Dharma's Devotional Facts at Only One Roof.

Add Comment

Click here to post a comment

नयी पोस्ट आपके लिए