रत्न और राशि

राशिनुसार रुद्राक्ष धारण का उपाय और लाभ

राशिनुसार रुद्राक्ष धारण का उपाय
१. मेष राशि (Aries) –

मेष राशि में जन्म लेने वाले जातकों में पेट के विकार, रक्तचाप, शीश रोग व गुर्दे के रोग प्रायः होते रहते हैं। अतः बीमारियों व संकटों से बचे रहने के लिए इन्हे तीनमुखी रुद्राक्ष को छोड़कर कोई भी अन्य रुद्राक्ष धारण से लाभ होता है। इससे इस राशि जातकों के उग्र स्वभाव में नर्मी आएगी। वैसे मंत्रसिद्ध चैतन्य चौदहमुखी रुद्राक्ष अथवा पंचमुखी रुद्राक्ष धारण करने से इनका शीघ्र भाग्योदय हो जाएगा।

२. वृष राशि (Taurus) –

वृष राशि के जातक प्रत्येक क्षेत्र में निश्चित रूप से सफलता प्राप्त करते है। अपनी योजनाओं को गुप्त रखने वाले होते हैं। इन जातकों के मन के भेद को कोई भी नहीं जान पाता है। आर्थिक संकटों का सामना इन्हे कम ही करना पड़ता है। इस राशि के जातक को छः मुखी रुद्राक्ष अथवा दसमुखी रुद्राक्ष धारण करना इन्हे अत्यधिक लाभकारी रहेगा।

३. मिथुन राशि (Gemini) –

मिथुन राशि के जातक परिवर्तन एवं गतिशील स्वभाव के होते हैं। जिसके कारण प्रायः ये कष्ट उठाते हैं। इनमे योग्यता, वाक्पटुता कूट-कूटकर भरी होती है। इनका दाम्पत्य जीवन सुखी होता है। इस राशि के जातक को सफलता और सुख-समृद्धि प्राप्त करने के लिए चारमुखी रुद्राक्ष अथवा ग्यारहमुखी रुद्राक्ष धारण करना फायदेमंद रहेगा।

४. कर्क राशि (Cancer) –

कर्क राशि के जातक चंचल और अस्थिर स्वभाव के होते है। ये दूसरों की बातों पर ध्यान न देकर केवल अपने दिल-दिमाग की सुनें तो इन्हे लाभकार रहेगा। इस राशि के जातक अपने कार्य में कुशल होते हैं और इसी कारण सफलता प्राप्त करते है। इस राशि के जातक को जीवन में सर्वमनोकामना पूर्ति हेतु चारमुखी रुद्राक्ष अथवा गौरीशंकर रुद्राक्ष धारण करने से लाभ होगा।

५. सिंह राशि (Leo) –

सिंह राशि के जातकों में आत्मविश्वास कूट-कूटकर भरा होता है। स्वभाव की कारण इनके मार्ग में अनेक बाधाएं आती है। इस राशि के जातकों को दूसरों के आश्रय में जीना पसंद नहीं होता है। इस राशि के जातक तीन मुखी रुद्राक्ष को छोड़कर किसी भी मुख वाला रुद्राक्ष धारण कर सकते है। वैस पांचमुखी रुद्राक्ष को सोने में जड़वाकर विधिपूर्वक धारण करना हितकारी रहेगा।

६. कन्या राशि (Virgo) –

कन्या राशि के जातक चतुर, निष्ठावान और स्फूर्तिवान होते है। इन्हे एकांत में शांतिपूर्ण कार्य करना विशेष प्रिय होता है। ये समय और वातावरण के साथ चलते है। इनका पारिवारिक जीवन सुखमय होता है। इस राशि के जातक को सर्वसुख प्राप्ति हेतु गौरीशंकर रुद्राक्ष धारण करना फलदायी सिद्ध होगा।

७. तुला राशि (Libra) –

तुला राशि के जातक न्यायप्रिय, शान्तिप्रय , गंभीर स्वभाव के , दयालु और पवित्र विचारधारा वाले होते है। ये प्रत्येक निर्णय खूब सोच-विचार कर करते हैं। इस राशि के जातको में असाधारण दूरदर्शिता होता है। इस राशि के जातक को सातमुखी रुद्राक्ष तथा गणेश रुद्राक्ष धारण करना लाभकारी रहेगा।

यह भी पढ़े : 

८. वृश्चिक राशि (Scorpio) –

वृश्चिक राशि के जातक अत्यंत बुद्धिमान होते है तथा कठोर संघर्ष करने वाले होते है। ये अपने जीवन के अंतिम समय तक संघर्षशील होते है। ये अपने बल पर जीवन में सफलता प्राप्त करते हैं। इस राशि के जातक के लिए आठमुखी रुद्राक्ष अथवा तेरहमुखी रुद्राक्ष धारण करना लाभकारी रहेगा।

९. धनु राशि (Sagittarius) –

धनु राशि के जातक साहसी, परिश्रमी, आक्रामक और उग्र स्वभाव के होते है। इस राशि के जातको का सारा सुख आडंबरों से ओतप्रोत होता है और अपने इसी दिखावे के कारण इन्हे जीवन में अनेक दुःख झेलने पड़ते है। इस राशि के जातकों को सर्वसुख प्राप्ति के लिए नौमुखीरुद्राक्ष अथवा एक मुखी रुद्राक्ष धारण करना परम हितकारी रहेगा।

१०. मकर राशि (Capricorn)-

मकर राशि के जातक ईमानदार, निष्ठावान और विश्वासपात्र होते है। कठिनाइयों और बाधाओं की यह परवाह नहीं करते है। इस राशि के जातको में असीम सहनशक्ति और संगठन शक्ति होती है। इनको अपने जीवन में समस्त मनोकामनाओं की पुती के लिए तेरहमुखी रुद्राक्ष अथवा दसमुखी रुद्राक्ष धारण करने से अत्यधिक लाभ होगा।

११. कुम्भ राशि (Aquarius) –

कुम्भ राशि के जातक अत्यंत परिश्रमी और कुशल प्रेमी होते है। इन्हे निराशा कभी भी हताश नहीं करती। इस राशि के जातकों में पूर्वाभास शक्ति होती है। जिसके कारण प्रत्येक घटना का आभास इन्हे पहले से ही हो जाता है। इस राशि के जातक यदि सातमुखी रुद्राक्ष धारण करे तो इनके लिए विशेष लाभकारी रहेगा।

१२. मीन राशि (pisces) –

मीन राशि के जातक मीठा बोलने वाले तथा व्यवहार कुशल होते है। ये अत्यधिक सपने देखने वाले और दुर्बल स्वास्थ्य के होते है। प्रत्येक कार्य को पूरी तल्लीनता से करना इस राशि के जातकों का विशेष गुण होता है। शुद्ध सोने की टोपी में जड़ित एवं मंत्रसिद्ध चैतन्य एकमुखी कवच धारण करने से इनके जीवन में सफलता और समृद्धि का दौर प्रारम्भ हो जाएगा।

क्या आपको हमारी पोस्ट पसंद आयी ?

error: Content is protected !!