राजस्थानी भजन

रामा घडी घडी पल पल

rama-om

रामा धडी घडी पल पल छीन छीन हरी जी आरतियो मे गाऊ

आरतियो मे गाऊ ओ सांवरा फेर जन्म नहीं पाऊ राम धडी

सच्चे प्रेम से संझोऊ आरती सूरत की ज्योत जगाऊ | रामा ……

बहु मेवा पकवान मिठाई दूध भात को लाऊ

घंटा ताल मृदंग बांसुरी घुघरिया धमकाऊ | राम धडी

अब झट पधारो मेरे मोहन मिल्यो अति सुख पाऊ राम धडी

सब भक्तन की आई है विनती चरणों मे शीश नवाऊ |

फेर जन्म नहीं पाऊ राम धडी घडी पल पल छीन छीन हरी

जी री आरतिया मे गाऊ |

Search Kare

सर्वाधिक पढ़ी जाने वाली पोस्ट

bhaktisanskar-english

Subscribe Our Youtube Channel