राजस्थानी भजन

रामा घडी घडी पल पल

rama-om

रामा धडी घडी पल पल छीन छीन हरी जी आरतियो मे गाऊ

आरतियो मे गाऊ ओ सांवरा फेर जन्म नहीं पाऊ राम धडी

सच्चे प्रेम से संझोऊ आरती सूरत की ज्योत जगाऊ | रामा ……

बहु मेवा पकवान मिठाई दूध भात को लाऊ

घंटा ताल मृदंग बांसुरी घुघरिया धमकाऊ | राम धडी

अब झट पधारो मेरे मोहन मिल्यो अति सुख पाऊ राम धडी

सब भक्तन की आई है विनती चरणों मे शीश नवाऊ |

फेर जन्म नहीं पाऊ राम धडी घडी पल पल छीन छीन हरी

जी री आरतिया मे गाऊ |

About the author

Aaditi Dave

Hello Every One, Jai Shree Krishna, as I Belong To Brahman Family I Got All The Properties of Hindu Spirituality From My Elders and Relatives & Decided To Spreading All The Stuff About Hindu Dharma's Devotional Facts at Only One Roof.

Add Comment

Click here to post a comment

नयी पोस्ट आपके लिए