मंत्र-श्लोक-स्त्रोतं

राधाकृष्णा वंदना

radha-krishana

राधाकृष्णा वंदना

त्वं माता कृष्ण प्राणाधिका देवी

कृष्ण प्रेममयी शक्ति शुभे

पुजितासी मया सा च या श्री कृष्णेन पूजिता

कृष्ण भक्ति प्रदे राधे नमस्ते मंगल प्रदे

हे माँ राधा, आप श्री कृष्ण के प्राण ( अधिष्ठात्री देवी ) हैं तथा आप ही श्री कृष्ण की प्रेममयी शक्ति तथा शोभा हैं | श्री कृष्ण भी जिनकी पूजा करते हैं वे देवी मेरी पूजा स्वीकार करें हे देवी राधा ! मुझे कृष्ण भक्ति प्रदान करें मेरा नमन स्वीकार करें तथा मेरा मंगल करें |

हे दीनबन्धो दिनेश सर्वेश्वर नमोस्तुते

गोपेश गोपिका कांत राधा कांता नमोस्तुते

हे दीनबंधो ( दया पात्रों के मित्र ) दिनेश ( दया पात्रों के ईश्वर ) सब ईश्वरों के ईश्वर प्रभु मेरा नमन मेरी स्तुति स्वीकार करें |

आप गोपिओं के ईश्वर एवं प्राणनाथ हैं तथा श्री राधा जी आपके प्राण ( अधिष्टात्री देवी ) हैं | प्रभु मेरा नमन मेरी स्तुति स्वीकार करें

नयी पोस्ट आपके लिए