Category - पूजा पाठ

पूजा पाठ

श्रीरामचरितमानस सुन्दरकाण्ड (51-60)

सखा कही तुम्ह नीकि उपाई। करिअ दैव जौं होइ सहाई॥ मंत्र न यह लछिमन मन भावा। राम बचन सुनि अति दुख पावा॥ नाथ दैव कर कवन भरोसा। सोषिअ सिंधु करिअ मन रोसा॥कादर मन कहुँ एक......

पूजा पाठ

श्रीरामचरितमानस सुन्दरकाण्ड (1-50)

श्लोक शान्तं शाश्वतमप्रमेयमनघं निर्वाणशान्तिप्रदं ब्रह्माशम्भुफणीन्द्रसेव्यमनिशं वेदान्तवेद्यं विभुम् ।रामाख्यं जगदीश्वरं सुरगुरुं मायामनुष्यं......

पूजा पाठ

गीता सार

क्यों व्यर्थ की चिंता करते हो? किससे व्यर्थ डरते हो? कौन तुम्हें मार सक्ता है? आत्मा न पैदा होती है, न मरती है।जो हुआ , वह अच्छा हुआ, जो हो रहा है, वह अच्छा हो रहा है, जो होगा......

पूजा पाठ

बजरंग बाण

निश्चय प्रेम प्रतीत ते, विनय करें सनमान। तेहि के कारज सकल शुभ, सिद्घ करैं हनुमान॥ जय हनुमन्त सन्त हितकारी। सुन लीजै प्रभु अरज हमारी॥जन के काज विलम्ब न कीजै। आतुर दौरि महा......

पूजा पाठ

संकटमोचन हनुमानाष्टक

संकटमोचन हनुमानाष्टक बाल समय रवि भक्ष लियो तब, तीनहुं लोक भयो अँधियारो। ताहि सों त्रास भयो जग को, यह संकट काहु सों जात न टारो॥देवन आनि करी विनती तब, छांड़ि दियो रवि......

error: Content is protected !!