राजस्थानी भजन

मोहे श्याम मन भायो

shyam

मोहे श्याम मन भायो (Mohe Shyam Mann bhayo bhajan in hindi  Mp3)

मोने श्याम सुन्दर मन भायो |

केसर रो तिलक लगायो | |

मोने ओरो दाय नहीं आयो |

केसर रो तिलक लगायो | |

केसर चन्दन और अरगजा

मही पिस मंगवायो

केसर रो तिलक लगायो | |

कनक कटोरों अमृत भरियो |

हरिजन लेकर आयो

केसर रो तिलक लगायो | |

ऊँची मेडी अजान झरोखा माचे पलंग ड्द्वायो रे |

सुरती निरता करक सेवना, पंखा पां डुडायो | |

केसर रो तिलक लगायो | |

सत गुरु आय चरणपग धरियो |

सखिया मंगल गायोऐ , धुप दीप सु करू आरती

मोतिदोरो चोक पुरायो ओ

केसर रो तिलक लगायो | |

निन्दरा बिन री कुंज गलीन मे कोनो रास रचायो रे

गिरधर लाल गोपाल कहीजे, राजा मों जस गयो

केसर रो तिलक लगायो | |

(कबीरा जब हम पैदा हुए ,जग हँसे ह मसोए|

ऐसी करनी कर चलो , हम हँसे जग रोये | |)

Search Kare

सर्वाधिक पढ़ी जाने वाली पोस्ट

bhaktisanskar-english

Subscribe Our Youtube Channel