श्री कृष्णा भजन

मैं नही माखन खा

मैं नही माखन खा (Mee nhi Makhan kha bhajan in hindi Mp3)

मैं नही माखन खायो

मैया मोरी, मैं नही माखन खायो

भोर भये गयैन के पाछे, मधुवन मोहि पठायो ।

चार पहर वंशीवट भट भटक्यो, सांझ परे घर आयो ॥

मैया मोरी …..

मैं बालक बहियन को छोटो, छींको केहि विधि पायो.

ग्वाल-बाल सब बैर परे हैं, बरबस मुख लपटायो..

मैया मोरी…….

तू जननी मन की अति भोरी, इनके कहे पतियायो .

जिया तेरे कछु भेद परेयो है जानि परायो जायो मईया

जानि परायो जायो. ओ मईया मोरी….

यह ले अपनी लकुटि कमरिया, बहुतहि नाच नचायो .

“सूरदास” तब विहँसी यशोदा, लै उर-कंठ लगायो ..

मैया मोरी ……….

 

नयी पोस्ट आपके लिए