श्री कृष्णा भजन

मैया मोरी मैं नहिं माखन खायो …

मैया मोरी मैं नहिं माखन खायो – Maiya Mori Main Nahin Makhan Khayo

मैं नही माखन खायो
मैया मोरी, मैं नही माखन खायो

भोर भये गयैन के पाछे, मधुवन मोहि पठायो ।
चार पहर वंशीवट भट भटक्यो, सांझ परे घर आयो ॥
मैया मोरी मैं नही माखन खायो

मैं बालक बहियन को छोटो, छींको केहि विधि पायो.
ग्वाल-बाल सब बैर परे हैं, बरबस मुख लपटायो..
मैया मोरी मैं नही माखन खायो

तू जननी मन की अति भोरी, इनके कहे पतियायो .
जिया तेरे कछु भेद परेयो है जानि परायो जायो मईया
जानि परायो जायो. ओ मईया मोरी मैं नही माखन खायो

यह ले अपनी लकुटि कमरिया, बहुतहि नाच नचायो .
“सूरदास” तब विहँसी यशोदा, लै उर-कंठ लगायो ..
मैया मोरी मैं नही माखन खायो

About the author

Aaditi Dave

Hello Every One, Jai Shree Krishna, as I Belong To Brahman Family I Got All The Properties of Hindu Spirituality From My Elders and Relatives & Decided To Spreading All The Stuff About Hindu Dharma's Devotional Facts at Only One Roof.

क्या आपको हमारी पोस्ट पसंद आयी ?

Copy past blocker is powered by https://bhaktisanskar.com