शिव स्तुति

प्रदोषस्तोत्रम्

shiv

श्री गणेशाय नमः ।

 

जय देव जगन्नाथ जय शङ्कर शाश्वत ।

जय सर्वसुराध्यक्ष जय सर्वसुरार्चित ॥ १॥

 

जय सर्वगुणातीत जय सर्ववरप्रद ।

जय नित्य निराधार जय विश्वम्भराव्यय ॥ २॥

 

जय विश्वैकवन्द्येश जय नागेन्द्रभूषण ।

जय गौरीपते शम्भो जय चन्द्रार्धशेखर ॥ ३॥

 

जय कोट्यर्कसङ्काश जयानन्तगुणाश्रय ।

जय भद्र विरूपाक्ष जयाचिन्त्य निरञ्‍जन ॥ ४॥

 

जय नाथ कृपासिन्धो जय भक्‍तार्तिभञ्‍जन ।

जय दुस्तरसंसारसागरोत्तारण प्रभो ॥ ५॥

 

प्रसीद मे महादेव संसारार्तस्य खिद्यतः ।

सर्वपापक्षयं कृत्वा रक्ष मां परमेश्वर ॥ ६॥

 

महादारिद्र्यमग्नस्य महापापहतस्य च ।

महाशोकनिविष्टस्य महारोगातुरस्य च ॥ ७॥

 

ऋणभारपरीतस्य दह्यमानस्य कर्मभिः ।

ग्रहैः प्रपीड्यमानस्य प्रसीद मम शङ्कर ॥ ८॥

 

दरिद्रः प्रार्थयेद्देवं प्रदोषे गिरिजापतिम् ।

अर्थाढ्यो वाऽथ राजा वा प्रार्थयेद्देवमीश्वरम् ॥ ९॥

 

दीर्घमायुः सदारोग्यं कोशवृद्धिर्बलोन्नतिः ।

ममास्तु नित्यमानन्दः प्रसादात्तव शङ्कर ॥ १०॥

 

शत्रवः सङ्क्षयं यान्तु प्रसीदन्तु मम प्रजाः ।

नश्यन्तु दस्यवो राष्ट्रे जनाः सन्तु निरापदः ॥ ११॥

 

दुर्भिक्षमरिसन्तापाः शमं यान्तु महीतले ।

सर्वसस्यसमृद्धिश्च भूयात्सुखमया दिशः ॥ १२॥

 

एवमाराधयेद्देवं पूजान्ते गिरिजापतिम् ।

ब्राह्मणान्भोजयेत् पश्चाद्दक्षिणाभिश्च पूजयेत् ॥ १३॥

 

सर्वपापक्षयकरी सर्वरोगनिवारणी ।

शिवपूजा मयाऽऽख्याता सर्वाभीष्टफलप्रदा ॥ १४॥

 

॥ इति प्रदोषस्तोत्रं सम्पूर्णम् ॥

Author’s Choices

हर कष्टों के निवारण के लिए जपे ये हनुमान जी के मंत्र, श्लोक तथा स्त्रोत

सूर्य नमस्कार : शरीर को सही आकार देने और मन को शांत व स्वस्थ रखने का उत्तम तरीका

कपालभाति प्राणायाम : जानिए करने की विधि, लाभ और सावधानियाँ

डायबिटीज क्या है, क्यों होती है, कैसे बचाव कर सकते है और डाइबटीज (मधुमेह) का प्रमाणित घरेलु उपचार

कोलेस्ट्रोल : कैसे करे नियंत्रण, घरेलु उपचार, बढ़ने के कारण और लक्षण

केदारनाथ ज्योतिर्लिंग : उत्तराखंड के चार धाम यात्रा में सबसे प्रमुख और सर्वोच्च ज्योतिर्लिंग

गृह प्रवेश और भूमि पूजन, शुभ मुहूर्त और विधिपूर्वक करने पर रहेंगे दोष मुक्त और लाभदायक

लघु रुद्राभिषेक पूजा : व्यक्ति के कई जन्मो के पाप कर्मो का नाश करने वाली शिव पूजा

तो ये है शिव के अद्भुत रूप का छुपा गूढ़ रहस्य, जानकर हक्के बक्के रह जायेंगे

शिव मंत्र पुष्पांजली तथा सम्पूर्ण पूजन विधि और मंत्र श्लोक

श्रीगणेश प्रश्नावली यंत्र के 64 अंकों से जानिए अपनी परेशानियों का हल