कृष्णा मंदिर

भगवान् कृष्ण का भव्य और आलोकिक श्री प्रियाकान्त जू मंदिर, वृन्दावन

श्रीप्रियाकान्त जू मन्दिर महाराज श्री के उस संकल्प की परिणिति है जिसमें लाखों लोगों ने अपना सहयोग प्रदान किया है। कोई भी महान कार्य बिना सहयोग के पूरा नहीं हो पाता। सहयोग बड़ा हो या छोटा किसी के महत्व को दरकिनार नहीं किया जा सकता। जब सेतुबन्ध का महान कार्य हुआ तब वानरों के साथ-साथ गिलहरी ने भी अपना योगदान दिया था। इसीलिये लाखों लोगों के सहयोग का परिणाम है 'श्रीप्रियाकान्त जू मंदिर'। ये एक ऐसा धाम होगा जहां आकर भक्तों को आस्था और विश्वास प्राप्त होगा।

परम पूज्य श्री देवकीनन्दन ठाकुरजी महाराज एंवम् विश्व शांति सेवा चैरिटेबल ट्रस्ट के अथक प्रयास और भक्तों के सक्रिय सहयोग से प्रियाकांतजू मन्दिर निर्माण का कार्य अपने अन्तिम चरण में है। प्रियाकांतजू मन्दिर का अधिकृत फेसबुक पेज बनाने का प्रयोजन भक्तों के मध्य मन्दिर निर्माण की जानकारी को पहुचाना है। इसके अलावा भक्त गण मन्दिर के सम्बन्ध में अपनी जानकारी के लिए सवाल पूछ सकते है। 8 फरबरी 2016 , विश्व शांति सेवा चैरिटेबल ट्रस्ट परिवार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ क्योंकि इसी दिन प्रियाकांतजू मन्दिर का भव्य लोकार्पण हुआ था ।

योगगुरु स्वामी रामदेव जी ने किये प्रियाकान्तजू मंदिर के दर्शन वृन्दावन :

वृन्दावन में योगगुरू स्वामी रामदेव जी प्रियाकान्तजू मंदिर दर्शन को पहुँचे । सांयकाल मंदिर पट खुलने से पहले उन्होनें पूज्य महाराज श्री के साथ वार्ता की । अपनी व्यस्तता के चलते प्रियाकान्तजू दिव्य दर्शन महोत्सव में ना आने पर उन्होनें खेद जताया । उन्होने कहा कि समाचारों के माध्यम से उन्हें विशाल महोत्सव की जानकारी मिलती रही । वह ना आ सके लेकिन उनकी मानसिक उपस्थिति यहाँ बनी हुई थी । पूज्य महाराज श्री ने उन्हें महोत्सव में आयोजित हुये कार्यक्रमों की जानकारी दी । विशाल आयोजन की प्रशंशा करते हुये योगगुरू ने कहा कि प्रियाकान्तजू महोत्सव की गूँज पूरे देश में सुनाई पड़ी है ।निश्चय ही वृन्दावन की धरती पर यह अविस्मरणीय आयोजन हुआ था  ।

वार्ता के बाद पूज्य महाराज श्री ने स्वामी रामदेव जी को मंदिर परिसर एवं सत्संग भवन का भ्रमण कराया । तत्पश्चात वे मुख्य मंदिर पहुचे । यहाँ उन्होनें श्री प्रियाकान्तजू भगवान केदर्शन किये । मंदिर में महाराज श्री ने उन्हें पटका पहनाकर ठाकुरजी का छप्पन भोग प्रसाद प्रदान किया ।

क्या आपको हमारी पोस्ट पसंद आयी ?

Copy Protected by Nxpnetsolutio.com's WP-Copyprotect.