हेल्थ

कैसे करें कोलेस्ट्रोल नियन्त्रण

cholesterol-control

cholesterol-controlcholesterol  control करने के लिए कई तरह के खाद्य पदार्थों को आहार श्रृंखला में शामिल करना चाहिए। केवल कुछ चुनिंदा खाद्य पदार्थों के खाने भर से cholesterol level में कमी नहीं होती। नियमित कसरतों को भी जीवनशैली में शामिल करना होगा। आईटी उद्योगों से जुड़े कई संस्थान अपने परिसर में ही जिम्नेशियम उपलब्ध कराते हैं। कर्मचारी अपनी सुविधानुसार कसरत कर सकते हैं। ऑफिस के कैंटीनों में भी health food लोकप्रिय होते जा रहे हैं।

जो अपनी जीवनशैली परिवर्तित नहीं कर पा रहे हैं या जिनकी नौकरी इस तरह की है कि वे चाहकर भी नियमित कसरतें नहीं कर पाते हैं उन्हें अपने खानपान में थोड़ा परिवर्तन करना चाहिए। उदाहरण के तौर पर मैदे के बने bread or buns  के बजाय multi grain का विकल्प तलाशा जा सकता है।

साबुत अनाज : हाल ही में हुए एक अध्ययन से यह बात सामने आई है कि ‍जिन लोगों के भोजन में साबुत अनाज जैसे अंकुरित धान्य, दलिया वगैहर शामिल है उनकी कोरोटाइट आर्टरी क‍ि दीवार पतली रहती है, साथ ही इनमें मोटापन बहुत धीमी गति से आता है। कोरोटाइट आर्टरी जितनी अधिक

लचीली होगी दिल और दिमाग के दौरे पड़ने की आशंका उतनी ही कम होगी। कोलेस्ट्रॉल बढ़ा हुआ रहेगा तो कोरोटाइट आर्टरी की दीवार मोटी और सख्त बन जाएगी।

पिस्ता, अखरोट, बादाम:  American collage of cardiology   के जर्नल में एक शोध अध्ययन प्रकाशित हुआ है जिसके मुताबिक पिस्ता खाने से खराब कोलेस्ट्रॉल का स्तर घट जाता है। भारी वसायुक्त भोजन के बाद खाए गए अखरोटों से आपके दिल को संभावित खतरों से बचाया जा सकता है। पिस्ता, अखरोट और बादाम में मौजूद omega 3 fatty acid और antioxidant वसा युक्त भोजन में मौजूद saturated fat से आर्टरीज को होने वाले नुकसान की भरपाई कर सकता है।

अनार का रस: अनार का रस कोलेस्ट्रॉल के थक्के बनाना बंद कर देता है, नाइट्रिक ऑक्साइड का उत्पादन बढ़ा देता है। नाइट्रिक ऑक्साइड से आर्टरीज में जमे थक्के कम होने में मदद मिलती है।

ओट्स : इसे सामान्य भाषा में जई भी कहते हैं। इसमें बीटा ग्लूकेन नामक रसायन होता है जो खराब कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल) को रक्त नलिकाओं से हटा देता है। इसे बनाना बहुत आसान है और प्राय: सभी बड़े स्टोर्स में मिल जाता है।

खाद्य तेल : किसी भी एक तरह के खाद्य तेल पर निर्भर न रहें। हमेशा उसे बदलते रहें। तिल्ली, मूंगफली, सरसों, खोपरे का तेल, सोयाबीन, बिनौले और राइसब्रान को बारी-बारी से इस्तेमाल कर सकते हैं। खाद्य तेल की मात्रा कम की जा सकती है उदाहरण के तौर पर यदि सब्जियां दो चम्मच तेल में छौंकी जा रही हैं तब उसे घटाकर एक चम्मच पर लाया जा सकता है। नॉन स्टिक कुक वेयर इसमें आपकी मदद कर सकते हैं। ऑलिव ऑइल को भी खाद्य श्रृंखला में शामिल किया जा सकता है। बाजार में ऐसा ऑलिव ऑइल भी उपलब्ध है जिसमें भारतीय भोज न शैली के अनुरूप तला भी जा सकता है।

अलसी का तेल : इस तेल के उपयोग से high blood pressure  को नियंत्रित किया जा सकता है। अध्ययनों में पता चलता है कि जिन मध्य आयुवर्ग के पुरुषों ने आठ ग्राम अलसी के बीज नियमित रूप से खाए उनका रक्तचाप कम हुआ।

काला सोयाबीन:  science of food and agriculture , अमेरिका के जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक काले सोयाबीन का उपयोग करने से मोटापा कम होता है। HDL cholesterol, साथ ह‍ी type 2 diabetes का जो खिम कम हो जाता है।

दही है महत्वपूर्ण: सबसे अंत में और सबसे महत्वपूर्ण खाद्य पदार्थ है दही जो bad cholesterol को कम करने में आपकी मदद करता है। दही में मौजूद प्रोबायोटिक्स लैक्टोबैसिलियम एसिडोफिलिस कोलेस्ट्रॉल के स्तर को घटाने में मददगार साबित होता है। खाद्य पदार्थों का सतर्कतापूर्वक चयन करने के साथ नियमित कसरत से कुल कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के जोखिम से बचा जा सकता है।

क्या होता है खराब कोलेस्ट्रॉल: एलडीएल या खराब कोलेस्ट्रॉल वसा का वह थक्का होता है जो नसों की दीवार पर चिपक जाता है तथा उसे और सख्त बना देता है। थक्के की वजह से रक्त नलिकाओं का आकार सिकुड़ जाता है और उचित मात्रा में रक्त का प्रवाह होना चाहिए वह नहीं हो पाता। खराब कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम करने के लिए औषधियों के साथ उचित आहार एवं नियमित कसरतें भी करना जरूरी है।

यह भी पढ़े :

आयुर्वेद रखे दिल का ख्याल

भूख की कमी का आयुर्वेदिक उपचार | Improve Your Diet By Aayurveda

डाइबटीज का आयुर्वेदिक उपचार | Aayurvedic Treatment Of Diabetes

कफ और सर्दी जुकाम में आयुर्वेदिक उपचार

उदर की पीड़ा का आयुर्वेदिक उपचार

आयुर्वेद से स्वाइन फ्लू चिकित्सा

आयुर्वेदिक चिकित्सा से मिटाये खुजली की समस्या

About the author

Niteen Mutha

नमस्कार मित्रो, भक्तिसंस्कार के जरिये मै आप सभी के साथ हमारे हिन्दू धर्म, ज्योतिष, आध्यात्म और उससे जुड़े कुछ रोचक और अनुकरणीय तथ्यों को आप से साझा करना चाहूंगा जो आज के परिवेश मे नितांत आवश्यक है, एक युवा होने के नाते देश की संस्कृति रूपी धरोहर को इस साइट के माध्यम से सजोए रखने और प्रचारित करने का प्रयास मात्र है भक्तिसंस्कार.कॉम

Add Comment

Click here to post a comment

नयी पोस्ट आपके लिए