निर्जला एकादशी

एकादशी व्रत हिन्दू जाति में सबसे अधिक प्रचलित व्रत माना जाता है। हिन्दू जाति में वर्ष में चौबीस एकादशियाँ आती हैं, किन्तु इन सब एकादशियों में ज्येष्ठ शुक्ल एकादशी सबसे बढ़कर फल देने वाली समझी जाती है क्योंकि इस एक एकादशी का व्रत रखने से वर्ष भर की......

प्रकृति के पुनर्जन्म का दिवस – बसंत पंचमी

बसंत ऋतु का आगमन बसंत पंचमी पर्व से होता है। शांत, ठंडी, मंद वायु, कटु शीत का स्थान ले लेती है तथा सब को नवप्राण व उत्साह से स्पर्श करती है। पत्रपटल तथा पुष्प खिल उठते हैं। स्त्रियाँ पीले- वस्त्र पहन, बसंत पंचमी के इस दिन के सौन्दर्य को और भी अधिक......







जानिए शिवपुराण के अनुसार धन लाभ यश प्राप्ति के उपाय

इस सृष्टि का निर्माण भगवान शिव की इच्छा मात्र से ही हुआ है। अत: इनकी भक्ति करने वाले व्यक्ति को संसार की सभी वस्तुएं प्राप्त हो सकती हैं। शिवजी अपने भक्तों की समस्त मनोकामनाएं पूरी कर देते हैं। शिवपुराण के अनुसार, नियमित रूप से शिवलिंग का पूजन करने......

कुशीनगर जिला

कुशीनगर एक बौद्ध धार्मिक स्थल है। गौतम बुद्ध ने कुशीनगर में ही निर्वाण प्राप्त किया था। हिन्दू धर्म में भी इस स्थान का विशेष महत्त्व है। कुशीनगर उत्तर प्रदेश में स्थित हैं। कुशीनगर में कई प्राचीन स्तूप और मठ स्थित है। इनमें से कई स्थानों का निर्माण......

राजगीर

राजगीर बिहार राज्य के नालंदा जिले में स्थित हैं। इस जगह पर भगवान बुद्ध के भस्मावशेष का एक भाग रखा गया है। राजगीर अपने प्राकृतिक सौंदर्य के साथ भगवान बुद्ध से जुड़े होने के कारण एक अहम तीर्थ स्थान माना जाता है। राजगीर का इतिहास (History of Rajgir) कहा......

error: Content is protected !!