श्री कृष्णा भजन

गोविन्द हरी गोपाल हरी

krishana-bhajan

गोविन्द हरी गोपाल हरी (Govind hari gopal hari bhajan in hindi Mp3) 

गोविन्द हरी गोपाल हरी जय जय प्रभु दीनदयाल हरी ,

गोविन्द हरी गोपाल हरी …………….

हम जान गए पहचान गए

छवि आई नजर तो मान गए |

हमरा भी सुनो अब हाल हरी

गोविन्द हरी गोपाल हरी ||1||

राधा ने तुम्हे आराधा था अर्जुन ने प्रेम से बंधा था |

भक्तो के हो रक्षपाल हरी , गोविन्द हरी गोपाल हरी ||2||

आलस के परदे फट जाए दुःख दूर हो संकट कट जाए |

दुखियो के हो सुखपाल हरी गोविन्द

हरी गोपाल हरी …………….||3||

जो निष्कपटी निष्कामी हो , जो मन अपने का स्वामी हो ,

उसको मिलते तत्काल हरी गोविन्द हरी गोपाल हरी ||4||

जो सर्वप्रिय हितकारी हो , पितु मात का आज्ञाकारी हो ,

वही तेज वही तव लाल हरी

गोविन्द हरी गोपाल हरी ||5||

जय जय प्रभु दिन दयाल हरी

गोविन्द हरी गोपाल हरी ………………

 

नयी पोस्ट आपके लिए