हेल्थ

आयुर्वेद द्वारा करें नशा मुक्ति के घरेलू इलाज

drugs-nasha-mukti

आयुर्वेद द्वारा करें नशा मुक्ति के घरेलू इलाज

शराब पीना और विशेषरूप से smoking के साथ शराब पीना बहुत ही खतरनाक है| इससे अनेकों रोग जैसे कैंसर (मुह का), महिलाओं में स्तन कैंसर, आदि रोग होते है| ऐसे बुरे व्यसन (आदत) एक मानसिक बीमारी है और इसे को छुडाने के लिए मानसिक बीमारी जैसे इलाज की आवश्यकता होती है| वात होने पर लोग चिंता और घबराहट को दबाने के लिए धूम्रपान का सहारा लेते है |

पित्त बढने से शरीर के अन्दर गर्मी लेने की इच्छा होती है और धूम्रपान की इच्छा होती है | कफ बढने से शरीर के अन्दर डाली गयी तम्बाकू की शक्ति लेकिन आप इसका इलाज ayurveda के माध्यम से कर सकते है और इसे बनाने के लिए १८-२० जड़ी – बूटियों का प्रयोग किया जाता है | सभी औषधियों को निश्चित मात्रा में मिलाकर यह दवा तैयार की जाती है | इस दवा का कोई बुरा प्रभाव नहीं है यदि इसे शरीर के वजन और स्वास्थ्य

[quads id = “3”]

अनुसार दवा की मात्रा तयकर लिया जाता है | इस दवा का प्रयोग किसी का शराब का नशा छुड़ाने, धूम्रपान का नशा छुड़ाने, और अन्य का नशा छुड़ाने (जैसे गुटका, तम्बाकू) में प्रयोग किया जा सकता है |

जड़ी – बूटियों का विवरण और मात्रा निम्न है –

गुलबनफशा – 2 ग्राम

निशोध – 4 ग्राम

विदारीकन्द (कुटज) – 15 ग्राम

गिलोय – 4 ग्राम

नागेसर – 3 ग्राम

कुटकी – 2 ग्राम

कालमेघ – 1 ग्राम

भ्रिगराज – 6 ग्राम

कसनी – 6 ग्राम

ब्राम्ही – 6 ग्राम

भुईआमला – 4 ग्राम

आमला – 11 ग्राम

काली हरर – 11 ग्राम

लौंग – 1 ग्राम

अर्जुन – 6 ग्राम

नीम – 7 ग्राम

पुनर्नवा – 11 ग्राम

मेश्श्रीन्गी

कैसे प्रयोग करे

उपर दी गयी सभी जड़ी – बूटियों को कूट और पीसकर पाऊडर बना लें । एक चम्मच दवा पाऊडर को एक दिन में दो बार खाना खाने के बाद पानी के साथ ले | इस दवा को खाने में मिलाकर भी दिया जा सकता है | जैसे – जैसे नशे की लत कम होने लगे इस दवा की मात्रा धीरे – धीरे कम कर दे | इस दवा का असर फ़ौरन पता चलने लगता है और लगभग दो माह में पूरी तरह से नशे की लत खत्म हो जाती है लेकिन दवा को कम मात्रा में और २-३ दिन के अंतर के लगभग ६ माह दे जिससे नशे की लत जड़ से खत्म हो जाए |

About the author

Pandit Niteen Mutha

नमस्कार मित्रो, भक्तिसंस्कार के जरिये मै आप सभी के साथ हमारे हिन्दू धर्म, ज्योतिष, आध्यात्म और उससे जुड़े कुछ रोचक और अनुकरणीय तथ्यों को आप से साझा करना चाहूंगा जो आज के परिवेश मे नितांत आवश्यक है, एक युवा होने के नाते देश की संस्कृति रूपी धरोहर को इस साइट के माध्यम से सजोए रखने और प्रचारित करने का प्रयास मात्र है भक्तिसंस्कार.कॉम