मंत्र-श्लोक-स्त्रोतं

चन्द्र अष्टोत्तरशतनामावलिः

chandra-strot

चन्द्र बीज मन्त्र -

ॐ श्राँ श्रीं श्रौं सः चन्द्राय नमः ||

 

ॐ श्रीमते नमः ||

ॐ शशधराय नमः ||

ॐ चन्द्राय नमः ||

ॐ ताराधीशाय नमः ||

ॐ निशाकराय नमः ||

ॐ सुखनिधये नमः ||

ॐ सदाराध्याय नमः ||

ॐ सत्पतये नमः ||

ॐ साधुपूजिताय नमः ||

ॐ जितेन्द्रियाय नमः ||

ॐ जयोद्योगाय नमः ||

ॐ ज्योतिश्चक्रप्रवर्तकाय नमः ||

ॐ विकर्तनानुजाय नमः ||

ॐ वीराय नमः ||

ॐ विश्वेशाय नमः ||

ॐ विदुशां पतये नमः ||

ॐ दोषकराय नमः ||

ॐ दुष्टदूराय नमः ||

ॐ पुष्टिमते नमः ||

ॐ शिष्टपालकाय नमः ||

ॐ अष्टमूर्तिप्रियाय नमः ||

ॐ अनन्ताय नमः ||

ॐ कष्टदारुकुठरकाय नमः ||

ॐ स्वप्रकाशाय नमः ||

ॐ प्रकाशात्मने नमः ||

ॐ द्युचराय नमः ||

ॐ देवभोजनाय नमः ||

ॐ कलाधराय नमः ||

ॐ कालहेतवे नमः ||

ॐ कामकृते नमः ||

ॐ कामदायकाय नमः ||

ॐ मृत्युसंहारकाय नमः ||

ॐ अमर्त्याय नमः ||

ॐ नित्यानुष्ठानदायकाय नमः ||

ॐ क्षपाकराय नमः ||

ॐ क्षीणपापाय नमः ||

ॐ क्षयवृद्धिसमन्विताय नमः ||

ॐ जैवातृकाय नमः ||

ॐ शुचये नमः ||

ॐ शुभ्राय नमः ||

ॐ जयिने नमः ||

ॐ जयफलप्रदाय नमः ||

ॐ सुधामयाय नमः ||

ॐ सुरस्वामिने नमः ||

ॐ भक्तनामिष्टदायकाय नमः ||

ॐ भुक्तिदाय नमः ||

ॐ मुक्तिदाय नमः ||

ॐ भद्राय नमः ||

ॐ भक्तदारिद्र्यभञ्जनाय नमः ||

ॐ सामगानप्रियाय नमः ||

ॐ सर्वरक्षकाय नमः ||

ॐ सागरोद्भवाय नमः ||

ॐ भयान्तकृते नमः ||

ॐ भक्तिगम्याय नमः ||

ॐ भवबन्धविमोचकाय नमः ||

ॐ जगत्प्रकाशकिरणाय नमः ||

ॐ जगदानन्दकारणाय नमः ||

ॐ निस्सपत्नाय नमः ||

ॐ निराहाराय नमः ||

ॐ निर्विकाराय नमः ||

ॐ निरामयाय नमः ||

ॐ भूच्छयाच्छादिताय नमः ||

ॐ भव्याय नमः ||

ॐ भुवनप्रतिपालकाय नमः ||

ॐ सकलार्तिहराय नमः ||

ॐ सौम्यजनकाय नमः ||

ॐ साधुवन्दिताय नमः ||

ॐ सर्वागमज्ञाय नमः ||

ॐ सर्वज्ञाय नमः ||

ॐ सनकादिमुनिस्तुताय नमः ||

ॐ सितच्छत्रध्वजोपेताय नमः ||

ॐ सिताङ्गाय नमः ||

ॐ सितभूषनाय नमः ||

ॐ श्वेतमाल्याम्बरधराय नमः ||

ॐ श्वेतगन्धानुलेपनाय नमः ||

ॐ दशाश्वरथसंरूढाय नमः ||

ॐ दण्डपानये नमः ||

ॐ धनुर्धराय नमः ||

ॐ कुन्दपुष्पोज्ज्वलाकाराय नमः ||

ॐ नयनाब्जसमुद्भवाय नमः ||

ॐ आत्रेयगोत्रजाय नमः ||

ॐ अत्यन्तविनयाय नमः ||

ॐ प्रियदायकाय नमः ||

ॐ करुणारससंपूर्णाय नमः ||

ॐ कर्कटप्रभवे नमः ||

ॐ अव्ययाय नमः ||

ॐ चतुरश्रासनारूढाय नमः ||

ॐ चतुराय नमः ||

ॐ दिव्यवाहनाय नमः ||

ॐ विवस्वन्मण्डलज्ञेयवसाय नमः ||

ॐ वसुसमृद्धिदाय नमः ||

ॐ महेश्वरप्रियाय नमः ||

ॐ दान्ताय नमः ||

ॐ मेरुगोत्रप्रदक्षिणाय नमः ||

ॐ ग्रहमण्डलमध्यस्थाय नमः ||

ॐ ग्रसितार्काय नमः ||

ॐ ग्रहाधिपाय नमः ||

ॐ द्विजराजाय नमः ||

ॐ द्युतिकलाय नमः ||

ॐ द्विभुजाय नमः ||

ॐ द्विजपूजिताय नमः ||

ॐ औदुम्बरनगावासाय नमः ||

ॐ उदाराय नमः ||

ॐ रोहिणीपतये नमः ||

ॐ नित्योदयाय नमः ||

ॐ मुनिस्तुत्याय नमः ||

ॐ नित्यानन्दफलप्रदाय नमः ||

ॐ सकलाह्लादनकराय नमः ||

ॐ पलाशेध्मप्रियाय नमः ||

 

||इति चन्द्र अष्टोत्तरशतनामावलिः सम्पूर्णम् ||

About the author

Aaditi Dave

Hello Every One, Jai Shree Krishna, as I Belong To Brahman Family I Got All The Properties of Hindu Spirituality From My Elders and Relatives & Decided To Spreading All The Stuff About Hindu Dharma's Devotional Facts at Only One Roof.

Author’s Choices

हर कष्टों के निवारण के लिए जपे ये हनुमान जी के मंत्र, श्लोक तथा स्त्रोत

सूर्य नमस्कार : शरीर को सही आकार देने और मन को शांत व स्वस्थ रखने का उत्तम तरीका

कपालभाति प्राणायाम : जानिए करने की विधि, लाभ और सावधानियाँ

डायबिटीज क्या है, क्यों होती है, कैसे बचाव कर सकते है और डाइबटीज (मधुमेह) का प्रमाणित घरेलु उपचार

कोलेस्ट्रोल : कैसे करे नियंत्रण, घरेलु उपचार, बढ़ने के कारण और लक्षण

केदारनाथ ज्योतिर्लिंग : उत्तराखंड के चार धाम यात्रा में सबसे प्रमुख और सर्वोच्च ज्योतिर्लिंग

गृह प्रवेश और भूमि पूजन, शुभ मुहूर्त और विधिपूर्वक करने पर रहेंगे दोष मुक्त और लाभदायक

लघु रुद्राभिषेक पूजा : व्यक्ति के कई जन्मो के पाप कर्मो का नाश करने वाली शिव पूजा

तो ये है शिव के अद्भुत रूप का छुपा गूढ़ रहस्य, जानकर हक्के बक्के रह जायेंगे

शिव मंत्र पुष्पांजली तथा सम्पूर्ण पूजन विधि और मंत्र श्लोक

श्रीगणेश प्रश्नावली यंत्र के 64 अंकों से जानिए अपनी परेशानियों का हल