बौद्ध धर्म

बोध गया

bodhgaya

बोध गया बिहार में स्थित एक बौद्ध धार्मिक स्थल है। बिहार बौधगया के आध्यात्मिक महत्त्व के कारण विश्व विख्यात है। इस स्थान को बौद्ध धर्म का तीर्थ स्थान कहा जाता है। यूनेस्को द्वारा इस शहर को विश्व विरासत स्थल घोषित किया गया है। यहां स्थित महाबोधि मंदिर को बेहद विशेष माना जाता है।

बोध गया का इतिहास
मान्यतानुसार गौतम बुद्ध ने फाल्गू नदी के किनारे बोधिवृक्ष के नीचे ज्ञान प्राप्त किया था। तीन दिन तक लगातार तपस्या के बाद बैसाख पूर्णिमा के दिन उन्हें ज्ञान की प्राप्ति हुई थी। इस स्थान को बौद्ध सभ्यता का केन्द्र बिन्दू माना जाता है। बुद्ध की मृत्यु के पश्चात, मौर्य शासक अशोक ने यहां सैकडों मठों का निर्माण कराया था।यहां स्थित महाबोधि मंदिर अपनी वास्तुकला के लिए भी प्रसिद्ध है। इस मंदिर में भगवान बुद्ध की पद्मासन की मुद्रा में मूर्ति स्थापित है।

बोधगया का त्यौहार

बोधगया में बुद्ध जयन्ती के अवसर पर विशेष आयोजन होते हैं। नये साल के अवसर पर यहां महाकाली पूजन कर मठों को पवित्र किया जाता है। भगवान बुद्ध और बौद्ध धर्म से जुड़ी शिक्षाओं के लिए बोध गया एक शानदार जगह है।

About the author

Niteen Mutha

नमस्कार मित्रो, भक्तिसंस्कार के जरिये मै आप सभी के साथ हमारे हिन्दू धर्म, ज्योतिष, आध्यात्म और उससे जुड़े कुछ रोचक और अनुकरणीय तथ्यों को आप से साझा करना चाहूंगा जो आज के परिवेश मे नितांत आवश्यक है, एक युवा होने के नाते देश की संस्कृति रूपी धरोहर को इस साइट के माध्यम से सजोए रखने और प्रचारित करने का प्रयास मात्र है भक्तिसंस्कार.कॉम

क्या आपको हमारी पोस्ट पसंद आयी ?

error: Content is protected !!