राजस्थानी भजन

भक्ति कर तो छूटे मारो प्राण एवं आनन्द

krishana-bhajan

भक्ति कर तो छूटे मारो प्राण एवं आनन्द (Bhakti Kar to chuute maro Pran  aur anand bhajan in hindi Mp3)

भक्ति कर तो छुट मारो प्राण

भक्ति कर तो छुटे मारो प्राण प्रभु जी ऐवा मांगू छु

मिले जन्म -जन्म थोरो साथ प्रभु ऐवा मांगू छु

थारो मुखड़ो मनोहर जोया करू रात दिवस भजन थारो |

बोल्या करू सासो रटु थोरो नाम

प्रभु ऐवा मांगू छु भक्ति कर छुटे ………..

मारी आशा -निराशा थे कर जो मति

मारा अवगुण चित थे धर जो मति

दोडी -दोडी आऊ ला थोरे द्वार प्रभु जी ऐवा मांगू छु भक्ति कर तो

थोरी भक्ति रो रंग मोहे लाग गयो

भय जन्म – मरण रो भाग गयो

रहे अन्त समय थोरो ध्यान प्रभु जी ऐवा मांगू छु

भक्ति कर तो छुटे नारों प्राण

मारा पाप ने ताप सावरलियो थोरे बालक ने दास

बनालिजो दी जो अन्त समय थोरे ध्यान प्रभु ऐवा मांगू छु

भक्ति कर तो छुटे मारो प्राण प्रभु ऐवा मांगू छु

मिले जन्म – जन्म थोरे साथ प्रभुजी मांगू छु

आनन्द

आनन्द आयो रे श्री कृष्ण तनो जस बृज में छायो रे आनन्द आयो रे

मथुरा में हरी जन्म लियो है रात ही गोकुल आयो है

जमना माहि रा चरण छुवता दर्शन पायो रे आनन्द आयो रे ….

कालदरी में कूछ सांवरा नाग नाथ घर आयो रे

डावे नख पर गिरवर धरियो रूप बनायो रे आनंद आयो रे ……..

आप जाय हरी द्वारिका में बसिया कंचन महल बनायो रे

राधा रुकमण जी रो ब्याह रचायो है मंगल गावो रे आनंद ……..

गोकुल में हरी मारी है पूतना मथुरा कंस पछाड्यो रे

उग्रसेन जी ने राज दिया है बंद छुडावो रे आनंद आयो रे

शरद पूनम री रैन सावरी गोपियो ने रास रचायो रे

लेकर चीर कदम पर ठाडा बहुत घबरायो रे आनंद आयो रे ……..

सब दुष्टों ने मार सांवरा भूमि रो भार उतारो रे

अबला दासी अर्ज कर है थोरो नाम हजारो रे आनंद आयो रे ……

Search Kare

सर्वाधिक पढ़ी जाने वाली पोस्ट

bhaktisanskar-english

Subscribe Our Youtube Channel