Shiv Bhakti Bhajan

शिव स्तुति

वीरेरस्तोत्राम

एकं ब्रैवाद्वितीयं समस्त्तम्, सत्यं सत्यं नेह नानास्ति किति्। एको रुो न द्वितीयोवतस्थे, तस्मादेकं त्वां प्रपद्ये महेशम्।।1।।   यह दिखलाई देने वाला समस्त अद्वितीय जगत्......

शिव स्तुति

नटराज स्तुति

PlayStop Xनटराज शिव के जगत गुरू स्वरूप का भी परिचायक है| नृत्य कलाओं में श्रेठ गिना जाता है और नटराज शिव कलाओं एवं ज्ञान प्रदान करने वाले परं......




Aarti-Chalisa-Paath

शनि अष्टोत्तरशतनाम

शनि अष्टोत्तरशतनामावलिःशनि बीज मन्त्र ॐ प्राँ प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः ॥ॐ शनैश्चराय......

error: Content is protected !!