Category - वास्तु टिप्स

ईशान मुखी भवन (Ishan Mukhi Bhawan) : जिस भवन के सामने – मुख्य द्वार के सामने ईशान दिशा ( उत्तर पूर्व दिशा ) की ओर मार्ग होता है ऐसे भवन को ईशान मुखी भवन कहा जाता है। इस तरह के भवन के शुभ अशुभ के परिणाम का प्रभाव सीधे गृह स्वामी एवं उसकी संतान...

Read More
वास्तु टिप्स

गृह प्रवेश और भूमि पूजन, शुभ मुहूर्त और विधिपूर्वक करने पर रहेंगे दोष मुक्त और लाभदायक

भवन सम्बन्धी कार्यों की शुरुआत के लिए शुभ माह का चयन करना अति महत्वपूर्ण होता है । भारतीय कैलेण्डर  के अनुसार फाल्गुन, वैसाख एवं सावन के महीने भूमिपूजन...

वास्तु टिप्स

वास्तु अनुसार किचन होने से रहेंगे दीर्घायु और धन धान्य से भरपूर

Vastu Tips for Kitchen : हर भवन में रसोई घर का बहुत ही प्रमुख स्थान होता है । अगर रसोई घर वास्तु सम्मत है तो वहाँ पर बना भोजन खाकर उस घर के निवासी सदैव निरोगी...

वास्तु टिप्स

आफिस व कार्यालय में सफलता और समृद्धि के लिए वास्तु के सरल उपाय

vastu upay for money in hindi | अचूक वास्तु उपाय से कारोबार में वृद्धि : आजकल कड़ी प्रतिस्पर्धा का जमाना है । लोग अपने व्यापार में आगे बढ़ने के लिए जी जान से...

वास्तु टिप्स

वास्तु दोष निवारण के सरल घरेलु उपाय से करे सभी दोष दूर

वास्तु दोष निवारण के उपाय (Vastu Dosh Nivaran in Hindi) हर व्यक्ति की कामना होती है कि उसका एक सुंदर एवं वास्तु के अनुरूप घर हो जिसमें वह और उसका परिवार प्रेम...

वास्तु टिप्स

वास्तु शास्त्र के अनुसार यहाँ हो आपका पूजा घर

कोई भी व्यक्ति चाहे किसी भी धर्म का हो उसके भवन में पूजा कास्थान अवश्य ही होता है । हिदु धर्म में पूजा के लिए भवन में ईशान की दिशा को सर्वश्रेष्ठ माना गया है ।...

वास्तु टिप्स

घर में खुशहाली के लिए गजब के वास्तु उपाय

उत्तर-पूर्व में रखें पानी का बहाव बाथरूम : – यह मकान के नैऋत्य-पश्चिम-दक्षिण कोण में एवं दिशा के मध्य अथवा नैऋत्य कोण व पश्चिम दिशा के मध्य में होना...

वास्तु टिप्स

वास्तुशास्त्र और कार्यालय

किसी भी वास्तु खंड में सर्वश्रेष्ठ स्थिति दक्षिण दिशा की मानी गई है। वास्तु संबंघी किसी भी पुराने वास्तुशास्त्र में दक्षिण-पश्चिम को प्रमुख स्थान नहीं दिया गया...

वास्तु टिप्स

वास्तु दोष निवारण के कुछ सरल उपाय

कभी-कभीदोषों का निवारण वास्तुशास्त्रीय ढंग से करना कठिन हो जाता है। ऐसे में  दिनचर्या के कुछ सामान्य नियमों का पालन करते हुए निम्नोक्त सरल उपाय कर इनका निवारण...

वास्तु टिप्स

लक्ष्मी आगमन के विशेष वास्तु उपचार

वास्तु शास्त्र का आधार प्रकृति है। आकाश, अग्नि, जल, वायु एवं पृथ्वी इन पांच तत्वों को वास्तु-शास्त्र में पंचमहाभूत कहा गया है। शैनागम एवं अन्य दर्शन साहित्य...

सर्वाधिक पढ़ी जाने वाली पोस्ट

Like & Support us on Facebook