Category - वास्तुशास्त्र

वास्तुशास्त्र

वास्तु शास्त्र के अनुसार यहाँ हो आपका पूजा घर

कोई भी व्यक्ति चाहे किसी भी धर्म का हो उसके भवन में पूजा कास्थान अवश्य ही होता है । हिदु धर्म में पूजा के लिए भवन में ईशान की दिशा को सर्वश्रेष्ठ माना गया है । चाहे भवन का मुख किसी भी दिशा में हो लेकिन पूजा घर यथासंभव ईशान कोण में बनाने से......

वास्तुशास्त्र

घर में खुशहाली के लिए गजब के Vastu Tips

उत्तर-पूर्व में रखें पानी का बहाव बाथरूम : – यह मकान के नैऋत्य-पश्चिम-दक्षिण कोण में एवं दिशा के मध्य अथवा नैऋत्य कोण व पश्चिम दिशा के मध्य में होना उत्तम है। वास्तु के......

वास्तुशास्त्र

वास्तुशास्त्र और कार्यालय

  किसी भी वास्तु खंड में सर्वश्रेष्ठ स्थिति दक्षिण दिशा की मानी गई है। वास्तु संबंघी किसी भी पुराने वास्तुशास्त्र में दक्षिण-पश्चिम को प्रमुख स्थान नहीं दिया गया है।......

वास्तुशास्त्र

वास्तु दोष निवारण के कुछ सरल उपाय

कभी-कभीदोषों का निवारण वास्तुशास्त्रीय ढंग से करना कठिन हो जाता है। ऐसे में  दिनचर्या के कुछ सामान्य नियमों का पालन करते हुए निम्नोक्त सरल उपाय कर इनका निवारण किया जा......

वास्तुशास्त्र

लक्ष्मी आगमन के विशेष वास्तु उपचार

वास्तु शास्त्र का आधार प्रकृति है। आकाश, अग्नि, जल, वायु एवं पृथ्वी इन पांच तत्वों को वास्तु-शास्त्र में पंचमहाभूत कहा गया है। शैनागम एवं अन्य दर्शन साहित्य में भी इन्हीं......

वास्तुशास्त्र

बिना तोड़-फोड़ के वास्तु दोष दूर करने के उपाय

एक सुंदर एवं दोषमुक्त घर हर व्यक्ति की कामना होती है। किंतु वास्तु विज्ञान के पर्याप्त ज्ञान के अभाव में भवन निर्माण में कुछ अशुभ तत्वों तथा वास्तु दोषों का समावेश हो......

Copy Protected by Nxpnetsolutio.com's WP-Copyprotect.