Category - ज्योतिष

वास्तुशास्त्र

वास्तु दोष निवारण के सरल घरेलु उपाय से करे सभी दोष दूर

वास्तु दोष निवारण के उपाय (Vastu Dosh Nivaran in Hindi) हर व्यक्ति की कामना होती है कि उसका एक सुंदर एवं वास्तु के अनुरूप घर हो जिसमें वह और उसका परिवार प्रेम, सुख शांति से जीवन जी सकें । लेकिन......

रत्न और राशि

जीवन मे चहुमुखी खुशिया और तरक्की के लिए लाये घर मे पारद पिरामिड

पारद का प्रत्येक अक्षर एक-एक देवता का प्रतीक है। ‘पारद’ का शाब्दिक अर्थ है-प-विष्णु, अ-कालिका, र-शिव और द-ब्रह्मा। यदि पारद प्रतिमा को मंत्रात्मक क्रियाओं द्वारा चैतन्य......

रत्न और राशि

नवरतनों को धारण करने की विधि और रत्नों से मनोकामना सिद्धि उपाय

सूर्य का रत्न माणिक्यसूर्य ब्राह्मण का केंद्र है । इसकी शाकी से समग्र विश्व अनुप्रणित है । यह ज्योतिष की दृष्टि से आत्मकारक ग्रह है । आत्मबल और इच्छा शक्ति तथा पिता का......

ज्योतिष

राशिनुसार मन्त्र जपने और लक्की चार्म रखने से बदलेगा आपका भाग्य

संसार में हर व्यक्ति चाहता है कि से हर कार्य में सफलता मिले, उसके ऊपर माँ लक्ष्मी कि सदैव कृपा बनी रहे, इसके लिए वह दिन रात मेहनत करता है हर जतन करता है लेकिन सभी लोगो को अपनी......

ज्योतिष

महाशिवरात्रि अभिषेक अपनी राशिनुसार करने से मिलेगा मनचाहा वरदान और परम पुण्य

देवाधिदेव महादेव ही सर्वशक्तिमान हैं इस बार दो दिन पड़ने वाले महाशिवरात्रि का पर्व इस बार स्वार्थ सिद्ध एवं सिद्ध योग पड़ने से खास होगा। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार......

हस्त रेखाएं

जाने हाथ में बने त्रिभुज, जाली, वर्ग और गोले का रहस्य

हाथों में पाए जाने वाले चिन्ह और उनके प्रभाव के विषय में हम काफी बातें पहले भाग में कर चुके हैं। कड़ी को आगे बढ़ते हुए इस भाग में हम कुछ और चिन्हों को जानेंगे और देखेंगे कि ये......

ज्योतिष

पित्र दोष निवारक मंत्र, यन्त्र और स्त्रोत से होगी तरक्की और मिलेगी खुशिया

  जब परिवार के किसी पूर्वज की मृत्यु के पश्चात उसका भली प्रकार से अंतिम संस्कार संपन्न ना किया जाए, या जीवित अवस्था में उनकी कोई इच्छा अधूरी रह गई हो तो उनकी आत्मा अपने घर और......

हस्त रेखाएं

जाने संतान रेखा का रहस्य

Santan Rekha (Children Line) in Hindi : हस्तरेखा ज्योतिष (Palmistry Astrology) में हाथों की रेखाओं से भविष्य देखा जाता है। ये रेखाएं भूत-भविष्य और वर्तमान का सटिक चित्रण कर सकती हैं। वैसे तो हाथों में कई......

वास्तुशास्त्र

वास्तु शास्त्र के अनुसार यहाँ हो आपका पूजा घर

कोई भी व्यक्ति चाहे किसी भी धर्म का हो उसके भवन में पूजा कास्थान अवश्य ही होता है । हिदु धर्म में पूजा के लिए भवन में ईशान की दिशा को सर्वश्रेष्ठ माना गया है । चाहे......

Copy Protected by Nxpnetsolutio.com's