आयुर्वेद उपचार

बेहतर सेक्स जीवन के लिए 15 सर्वश्रेष्ठ जड़ी-बूटियां

55बेहतर सेक्‍स के लिए जड़ी बूटियां

अपनी सेक्‍स क्षमता और यौन प्रदर्शन को बढ़ाने के लिए आप आयुर्वेद का सहारा लें सकते है। ऐसी 15 भारतीय जड़ी बूटियां है जिनका सेवन करके आप अपनी सेक्‍स क्षमता को प्राकृतिक रूप से बढ़ा सकते हैं। तो देर किस बात की, जल्‍दी से इन भारतीय जड़ी बूटियों का इस्‍तेमाल कर सुधारे अपनी सेक्‍सुअल प्रदर्शन को।

गुलाब की पंखुड़ियों

गुलाब में कई तरह के औषधीय गुण मौजूद है और गुलाब एक कामोत्तेजक भी हैं। गुलाब का इस्‍तेमाल कई प्रकार के सौंदर्य उत्पादों में किया जाता है।

इसका इस्‍तेमाल एक पाचन के रूप में भी किया जा सकता है। गुलाब में मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण रक्त वाहिकाओं में सुधार करता है और जननांग में रक्त का प्रवाह बढ़ता है।

कौंच बीज

कौंच के जड़, पत्ते और बीज सभी के कई फायदे होते है। इसका इस्‍तेमाल जुलाब के रूप में किया जाता है और इससे अल्‍सर का इलाज कर सकते हैं। कौंच के बीज की जड़ों और पत्तियों हर्बल कामोत्तेजक का स्रोत हैं। उत्तेजक प्रभाव के कारण कौंच के बीज सेक्स जीवन को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

व्हाइट वाटर लोटस

व्हाइट वाटर लोटस स्वस्थ रहने के लिए सबसे अच्छी जड़ी बूटियों में से एक है और यह कामोत्तेजक भी है। व्हाइट वाटर लोटस के बीज के इस्‍तेमाल से यौन जीवन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

मिस्वाक

मिस्‍वाक के पेड़ की छाल का प्रयोग टूथब्रश के रूप में प्रयोग किया जाता है और यह दांतों को स्‍वस्‍थ को बढ़ावा देने वाली  महत्‍वपूर्ण जड़ी-बूटी है। अक्‍सर आयुर्वेदिक टूथपेस्‍ट बनाने में इसका इस्‍तेमाल किया जाता है। मिस्‍वाक के पेड़ में कामोत्तेजक गुण होते है और इसका फल पाचन संबंधी समस्याओं को दूर करने में भी सहायता करता है।

अश्वगंधा

आमतौर पर अश्वगंधा या भारतीय जिनसेंग का प्रयोग आयुर्वेद में चिंता, गठिया, स्मृति हानि, हीमोग्लोबिन में सुधार और प्रतिरक्षा प्रणाली के इलाज के लिए किया जाता है। अश्वगंधा नसों को आराम देने में मदद करता है इसके अलावा यह  एक महत्वपूर्ण कामोत्तेजक भी है।

हिबिस्कस या शूफ्लावर

हिबिस्‍कस या शूफ्लावर भारत में बहुत लोकप्रिय है। यह सिर दर्द, बालों की देखभाल और मम्प्स जैसी बीमारियों के इलाज में बहुत मदद करता है। इसके अलावा शूफ्लावर एक कामोत्तेजक भी है इसके इस्‍तेमाल से आप अपनी सेक्‍सुअल क्षमता में सुधार कर सकते हैं।

जायफल

जायफल का इस्‍तेमाल एक मसाले के रूप में किया जाता है। यह बहुत ही अच्‍छा घरेलू उपाय हे जो सिरदर्द और पेट के रोगों को दूर करता है और रक्त परिसंचरण में सुधार भी करता है। जायफल में एंटी इंफ्लेमेटरी तत्‍व भी होता है जो जननांगों में रक्त के प्रवाह को बेहतर बनाता है जिससे आपकी सेक्‍स क्षमता बढ़ती हैं।

सफेद लिली

सफेद लिली एक और ऐसा फूल है जो न केवल खूबसूरत बल्कि इसमें कामोत्तेजक गुण भी है। सफेद लिली एंटी इंफ्लेमेटरी और सुखदायक होती है, जो सेक्‍स ड्राइव में सुधार लाने और यौन प्रदर्शन को बढ़ाने के लिए फायदेमंद होती है।

बांस

बांस के पत्ते में शीतलन प्रभाव पड़ते हैं। इसके सेवन से किसी को भी कब्‍ज से राहत मिलती है। साथ ही यह प्रोटीन से समृद्ध होता है। यह एक मूत्रवर्धक है और सेक्‍स क्षमता को बढ़ाने वाला घटक भी। इसमें मौजूद एंटी इंफ्लेमेटरी तत्‍व किसी की भी यौन जीवन को बढ़ा सकता हैं।

केसर

केसर, मानसिक स्थिति को बेहतर बनाने में मदद करता है और अवसाद को कम करता है। इसका इस्‍तेमाल न केवल जुकाम, अनिद्रा, अस्थमा और घावों के लिए किया जाता है बल्कि केसर एक कामोत्तेजक भी है। केसर को दूध में मिलाकर पीने से आपकी सेक्‍स क्षमता में इजाफा होता हैं।

दालचीनी

दालचीनी एक और मसाला है जिसका इस्‍तेमाल सब्‍जी की करी और मिठाई बनाने में किया जाता है। दालचीनी का आम सर्दी और खांसी से राहत के लिए भी प्रयोग किया जाता है। यह दांत दर्द, मांसपेशियों में ऐंठन और त्वचा रोगों के इलाज में प्रभावी है। दालचीनी में मौजूद एंटी-इफ्लेमेटरी गुण श्वसन तंत्र के परिसंचरण में और रक्त परिसंचरण में सुधार करता है साथ इसको प्रभावी कामोत्तेजक भी बना सकता हैं।

पीपल का पेड़

पीपल का पेड़ पूरे भारत में पाया जाता है और इसकी जड़ और पेड़ की छाल को कामोत्तेजक माना जाता है। इसके पेड़ की छाल को इस्‍तेमाल सूजन का इलाज करने के लिए भी किया जाता है और फल लैक्सटिव होता है।

व्रिघटिआ टिंकटोरिया

व्रिघटिआ टिंकटोरिया या स्त्री कुटज भारत के पहाड़ी क्षेत्रों में अधिकतर उपलब्ध होता है। एक कामोत्तेजक होने के अलावा इसकी पत्तियों और बीजों का इस्‍तेमाल उच्च रक्तचाप, कब्ज और दांतों में दर्द की समस्‍या को कम करने का इलाज भी किया जा सकता है।

गोल्डन आई ग्रास

गोल्‍डन आई ग्रास में ऐसे गुण होते है जो सेक्‍स ड्राइव को बढ़ावा देने में मदद करता है। इसके अलावा यह शरीर से अशुद्धियों को बाहर निकालने में भी मदद करता हैं। अगर आप भी अपनी सेक्‍स क्षमता को बढ़ाना चाहते हैं तो इसका अपने आहार में शमिल करें।

नागरमोथा

नागरमोथा एक और भारतीय जड़ी बूटी है जिसका इस्‍तेमाल करने से सेक्‍स क्षमता को आसानी से बढ़ाया जा सकता है। इसमें एंटी-इफ्लेमेटरी, एंटीस्पासमोड़िक और कामोत्तेजक गुण पाये जाते हैं।

यह भी पढ़े : 

भगवान् श्री कृष्ण के 51 नाम और उन के अर्थ

विघ्नहर्ता भगवान् श्री गणेश के अद्भुद भजन

शरद पूर्णिमा व्रत कथा

स्वामी विवेकानन्द के जीवन से जुडी महवपूर्ण बाते 

लक्ष्मी आगमन के विशेष वास्तु उपचार

भारत के प्रसिद्ध श्री राम मंदिर 

एसीडिटी का सरल आयुर्वेदिक उपचार

शुक्राचार्य की 7 महत्वपूर्ण नीतियां

क्या आपको हमारी पोस्ट पसंद आयी ?

Copy Protected by Nxpnetsolutio.com's WP-Copyprotect.